भारतीय इतिहास की कुछ अंतर्दृष्टियां / मीनाक्षी जैन – 3

To Read Second Part, Click Here. मीनाक्षी जैन: और कई भारत की सराहना करते थे | राजीव मल्होत्रा: हमारे पास त्रुटिपूर्ण छवि है कि ईस्ट इंडिया कंपनी ईसाई धर्मप्रचार के लिए थी | ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारे लोगों ने अच्छे से अध्ययन नहीं किया है और वे मूर्ख प्रतीत होते हैं जब ऐसे वक्तव्य […]

Continue Reading

भारतीय इतिहास की कुछ अंतर्दृष्टियां / मीनाक्षी जैन – 2

To Read First Part, Click Here. मीनाक्षी जैन: अधिकाँश मुस्लिम हिंदुओं, को उनके लिए इसके महत्व के कारण, यह स्थल सौंप देना चाहते थे | परन्तु वे बताते हैं कि वामपंथी इतिहासकारों के एक समूह ने उन्हें विश्वास दिलाया कि ऐसा नहीं करें | राजीव मल्होत्रा: अर्थात् ये वामपंथी हैं जिन्होंने हिंदुओं और मुसलमानों के […]

Continue Reading

भारतीय इतिहास की कुछ अंतर्दृष्टियां / मीनाक्षी जैन – 1

राजीव मल्होत्रा: नमस्ते, मेरे साथ आज एक बहुत ही विशिष्ट अतिथि हैं, मीनाक्षी जैन, जिन्हें मैं दो दशकों से जानता हूँ | हम बहुत लंबे समय पश्चात भेंट कर रहे हैं | वे भारतीय इतिहास और राजनीति पर सबसे अच्छे विद्वानों में से एक हैं | हम दोनों ने भारतीय वामपंथ के काम की आलोचना […]

Continue Reading

मस्जिद होली है, मंदिर सैक्रेड है

मस्जिद होली है, मंदिर सैक्रेड है गुड मॉर्निंग – सौरभ शाह ( मुंबई समाचार : शुक्रवार, २० जुलाई २०१८) राजीव मल्होत्राने शिवाजी पार्क के वीर सावरकर सभागृह में जो व्याख्यान दिया वह पूरे का पूरा देखने/ सुनने के लिए आप यूट्यूब सर्च कर सकते हैं. मल्होत्राने आंखें खोलेनवाली एक जबरदस्त बात अयोध्या के राम मंदिर […]

Continue Reading

अयोध्या विवाद और सती प्रथा

इरफ़ान हबीब पूर्व-विख्यात वामपन्थी विद्वानों में से एक है जिन्होंने अयोध्या विवाद पर बहुत कुछ लिखा है। इस विषय पर उनका लेखन बहुत विवादास्पद है। उन्होंने ऐसे हर प्रमाण को नष्ट किया है, अथवा फेंक देने, रद्द करने या अस्वीकार करने का प्रयास किया है, जो हिन्दुत्व के इस दृष्टिकोण को सत्यापित करता है कि […]

Continue Reading