भेंटवार्ता: राजीव मल्होत्रा से इस विषय पर कि, उनका कार्य हिन्दू परम्परों के अनुरूप कैसे है – 1

Translation Credit: – Vandana Mishra. श्री मल्होत्रा, आपके क्या दृष्टिकोण हैं गुरुओं, आचार्यों, स्वामियों और अन्य नेताओं के विषय में जो सांप्रदायिक परम्परों के हैं? आप किस प्रकार से उनकी भूमिका को इस आधुनिक जगत में देखते हैं? जब आप हिन्दू धर्म का प्रतिनिधत्व करते हैं सार्वजनिक गोष्‍ठी में, तो क्या आप ये परिकल्पना करते […]

Continue Reading

कहाँ हैं वे पाँडव जो हिन्दू धर्म का नेतृत्व कर सकें?

Translation Credit: Vandana Mishra. बौद्धिक कुरुक्षेत्र के स्नदर्भ में हिंदुवों के पुर्नजागरण आंदोलन को अपनी क्रीड़ा की नीतियों को सुधारना होगा I दुर्भाग्यवश, हम में सामथर्यवान विद्द्वानों और संस्थापक प्रक्रियाओं की अपूर्णता है I हिन्दुओं का प्रतिनिधित्व सर्वदा ही निम्नवर्गीय स्वरों में किया जाता है I भावनात्मक आडम्बर एवं राजनैतिक प्रतिपालन ने इसके प्राण खींच […]

Continue Reading

संस्कृत के लिए युद्ध में हुई मुख्य वाक् युद्ध

Translation Credit: – Vandana. ये पुस्तक वाद-विवाद करती है इस विषय पर कि, संस्कृत एवं संस्कृति दोनों ही जीवित, पवन और मोक्ष के स्रोत हैं. यद्दपि, इसका भविष्य हमारे आतंरिक समाज के निर्णय पर निर्भर करता है कि, वे इस परंपरा का क्या करेंगे। एक बृहत महत्वपूर्ण अन्वेषण तभी हो सकता है जब कई गंभीर […]

Continue Reading

योग: इतिहास से मुक्ति

Translation Credits: – Vandana. जब मैं ४ दशकों पूर्व उनाइटेड स्टेटस में स्थानांतरित हुआ, तब मैं यहाँ की अमरीकी सरकार की अमरीकी ऐतिहासिक व्यष्टित्व को अविरत प्रयास द्वारा व्यक्तिगत, नगर-विषयक समाजों में प्रसारण करने की प्रणाली से प्रभावित हुआ I धर्मनिरपेक्ष अमरीकी समाज, ऐतिहासिक समूहों से भरा हुआ है, जिसमें व्यावहारिक दृष्टि से प्रत्येक अमरीकी […]

Continue Reading

सर्वोच्च न्यायालय के लिए हिन्दू धर्म का परिचय — मधु पंडित दास (Part 2)

मधु पंडित दास:प्रभुपाद कहा करते थे कि कोई यह नहीं कह सकता कि सभी मार्ग एक ही छोर तक जाएंगे | राजीव मल्होत्रा: हमारे 99% गुरुओं के बीच यह एक आम भ्रम है | मधु पंडित दास:हाँ | राजीव मल्होत्रा: मैंने बहुत सारे साक्षात्कार किए हैं, अब और अधिक नहीं करना चाहता हूँ |यदि सत्य […]

Continue Reading

सर्वोच्च न्यायालय के लिए हिन्दू धर्म का परिचय — मधु पंडित दास (Part 1)

राजीव मल्होत्रा: तो, परम सत्य कोई व्यक्ति है | मधु पंडित दास:हाँ | राजीव मल्होत्रा: मैं इससे सहमत हूँ | तो, अब हमें बताएं…यह व्यक्ति विभिन्न रूपों में प्रकट होता है | मधु पंडित दास:सही | राजीव मल्होत्रा: और जो भी है उन सभी रूपों में | मधु पंडित दास:सही | राजीव मल्होत्रा: यदि यह […]

Continue Reading

कृष्ण मंत्र का सिद्धांत — पंडित मधु दास

राजीव मल्होत्रा: हरे कृष्ण मंत्र की विधि के बारे में बताएं |इसके पीछे का सिद्धांत क्या है ? यह मंत्र जो करता है वह वास्तव में यह कैसे करता है ? मधु पंडित दास: आइए शास्त्रों पर चलते हैं | कली-संतरण उपनिषद है, जो कृष्ण यजुर्वेद का अंग है |वहां यह मंत्र इस विशेष रूप […]

Continue Reading

विज्ञान के परे ज्ञान

राजीव मल्होत्रा: आइए, परम सत्य, सर्वोच्च व्यक्ति – ईश्वर और किस प्रकार वे विभिन्न भगवानों जैसे श्री कृष्ण, शिव, देवी आदि से संबंधित हैं, के साथ आरम्भ करते हैं | तब हम इसे वहां से आगे ले जा सकते हैं | मधु पंडित दास: किसी विशिष्ट उत्तर में जाने के पहले, मैं एक बहुत ही […]

Continue Reading

आरएसएस का वैश्वीकरण / मोहन भागवत

राजीव मल्होत्रा: संघ एक बड़ी, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित संस्था है | विश्व जानता है कि संघ कुछ महत्वपूर्ण है, परन्तु उनके पास उचित समझ नहीं है | कुछ रहस्यपूर्ण, दोषपूर्ण सूचना और संदेह है | आज संघ आपके नेतृत्व में गतिशील रूप से परिवर्तित हो रहा है | जिन वरिष्ठ लोगों से मैं मिला […]

Continue Reading

देवदत्त पट्टनायक को खुली चुनौती / नित्यानंद मिश्रा

राजीव मल्होत्रा: नमस्ते ! नित्यानंद मिश्रा: नमस्ते ! राजीव मल्होत्रा: नित्यानंद मिश्रा ने देवदत्त पट्टनायक की आलोचना के लिए जो एपिसोड किया, उसे बहुत बड़ी प्रतिक्रिया मिली और उसने बहुत उत्साह उत्पन्न किया | कुछ लोगों ने कुछ विषय उठाए, जिन्हें हमें संबोधित करना चाहिए | आज का उद्देश्य कुछ आलोचकों को उत्तर देना है […]

Continue Reading