धर्म-परिवर्तन का लक्ष्य – 2

भाग २: यूएस के अस्था पर आधारित उपक्रम: नूतनकलीन भारत यात्रा में, मुझे तेहेलका की एक अनुकृति दी गयी जिसकी तिथि ७ फ़रवरी, २००४ की थी जिसके आवरण कथा का शीर्षक था, ‘जॉर्ज बुश का भारत में बृहत धर्म-परिवर्तन का लक्ष्य I’ (१४ फ़रवरी वाले लेख में, एक लघु निरंतरता लेख भी उपलब्ध है I) […]

Continue Reading

धर्म-परिवर्तन का लक्ष्य – 1

मानवाधिकार एवं अन्य पक्ष अवैध धन संपत्ति को वैध करने में न्याय विरुद्ध प्रणाली द्वारा, संपत्ति की सरणि का निर्माण करके, एक जटिल लेन-देन के जाल द्वारा किया जाता है, जिससे कि, धन के चरित्र को विस्तार से संदिग्धार्थ बनाया जा सके, और क्रमशः उसको न्याय पूर्ण व्ययसाय गतिविधियों द्वारा ले जाया जा सके जो […]

Continue Reading

भारत में गरीबी है – इसलिए धर्मान्तरण को आगे बढ़ाना ठीक है ?

कई हिन्दू ऐसा मानते हैं कि अगर भारत में गरीबी है और गरीब लोग का धर्मान्तरण (Conversion) हो रहा है तो इसमें गलती सरकार की है, ईसाई मिशनरी की नहीं. ऐसा कह कर वे अक्सर अपने ईसाई दोस्तों के साथ अच्छे सम्बन्ध रखना चाहते हैं. इस वीडियो में राजीव मल्होत्रा कारण बताते हैं कि चाहे […]

Continue Reading

क्या ग़रीब का धर्मान्तरण नैतिक है?

कई हिन्दू ऐसा मानते हैं कि अगर भारत में गरीबी है और गरीब लोगों का धर्मान्तरण (Conversion) हो रहा है तो इसमें गलती सरकार की है, ईसाई मिशनरी की नहीं. ऐसा कह कर वे अक्सर अपने ईसाई दोस्तों के साथ अच्छे सम्बन्ध रखना चाहते हैं. इस वीडियो में राजीव मल्होत्रा कारण बताते हैं कि चाहे […]

Continue Reading